terrace gardening

Terrace Gardening टेरेस गार्डनिंग (रूफटॉप गार्डनिंग की जानकारी) इंडिया hindi

शेयर करें

terrace gardening ideas indoor india | terrace gardening tips | terrace gardening grow bags hindi

Table of Contents

टेरेस गार्डनिंग / रूफ टॉप गार्डनिंग

निम्नलिखित जानकारी टेरेस गार्डनिंग के बारे में

परिचय

बागवानी सबसे अच्छा शौक है जो हमें तनाव से राहत देता है, ये शरीर के लिए अच्छा एक्सरसाइज भी है लेकिन आजकल बड़े-बड़े बुलिडिंग के बन जाने से हमें बागवानी के लिए जगह ही नही मिलती है | शहर का जीवन हमें एक आसान जीवन जीने के लिए आवश्यक सभी आवश्यकताएं देता है, इसलिए लोग शहर की ओर आकर्षित हो रहे है |

शहर में प्रदुषण और कंक्रीट के बने बिल्डिंग के कारण, सीमेन्ट से बने सड़को के कारण हमारे घर के चारो ओर पेड़ लगाना कठिन है, पेड़-पौधे ताज़ी हवा देते है जो हमारे शरीर और दिमाग को तरोताजा बनाते है |

एक पार्क में जाना या ताज़ी हवा के लिए शहर से बाहर हम अपने busy life में जा नही सकते | बस आप एक बार सोच के देखिये की क्या हो अगर आपके पास एक गार्डन हो जो आपको फूलों की ताज़ी हवा और एक अच्छी एक्सरसाइज के साथ-साथ आपको फ्रूट और कुछ सब्जी भी दे लेकिन हम अपने घर को ऐसे बनाते है की हमारे घर के चारो और उतनी जगह नही बचती जिससे हम gardening kar sake, in sabhi के लिए आपके लिए सबसे best upay terrace gardening है |

terrace gardening या रूफ टॉप गार्डनिंग एक बहुत ही अच्छा idea है छत एक ऐसी जगह है जहाँ आपको अच्छी हवा, सूरज की रौशनी साथ ही बरसात में पानी भी मिलता है जो हमारे terrace के पौधों को मिलता है, terrace gardening उतना महंगा नही है जितना आपने सुना होगा | एक बार terrace gardening करके देखिये जिससे आपके परिवार वहां जाके अपने शारीर को तरोताज़ा रख सकते है |

terrace gardening से आप अपने फलों सब्जयों को अपने ही हाथो से उगाओगे जिससे आपको एक अच्छा अनुभव भी मिलेगा इसके अलावा terrace gardening से आपके घर को गर्मी से भी बचाएगा, terrace gardening बनाना बहुत ही आसान है जिसमे आप सभी प्रकार के फल और सब्जियां उगा सकते है आपको बस कुछ समय देने की आवश्यकता है, बागवानी से आपके शरीर को एक अच्छा एक्सरसाइज मिलता है जो हमारे तनाव को कम करता है और body ke circulation को भी बढ़ाता है |

terrace gardening में आप फलों / सब्जियों / फूलों के कंटेनरों के साथ उगा सकते है जिससे आपके पास एक अच्छा नजारा भी रहता है जो आपको फ्रेश महसूस करने में मदद करती है |

अगर आप terrace gardening शुरू करने करने का प्लान बना रहे है, तो यह पोस्ट आपको terrace gardening की सारी जानकारी देगी इसे अंत तक जरुर देखें |

terrace gardening के लिए जरुरी चीजें

terrace gardening ज्यादा महंगा नही है | आपको बस नर्सरी से पौधों या बीज, कंटेनरों / gardening device, gardening soil, बायो कम्पोस्ट आदि लेकर शुरू कर सकते है यदि आपके पास समय नही है या आपके आस-पास कोई नर्सरी नही है तो आप ऑनलाइन भी सारी खरीदारी कर सकते है |

Dedication : आपको terrace gardening के लिए एक ही मुख्य चीज की जरुरत है और वो है आपका dedication | पौधों की देखभाल के लिए आप कितना समय बिताते है, बागवानी में ज्यादा काम की आवश्यकता नही होती, आपको पौधों की देखभाल के लिए लगभग दिन में न्यूनतम 1 घंटे देने की आवश्यकता है |

terrace gardening ke liye designing idea

कंटेनर gardening या वर्टीकल gardening –

उठा हुआ बेड gardening और कॉम्पैक्ट कंटेनर ने दिवार पर चढ़ने वाले कंटेनर के use के लिए एक अच्छी जगह और सरल डिजाईन लेआउट तैयार करना चाहिए |

terrace gardening with container
terrace gardening with container

terrace gardening के लिए आपको छत को अच्छे से तैयार करना होगा जिसमे water प्रूफिंग और draining सिस्टम मुख्य चीज होते है | water प्रूफिंग के जरिये आप gardening area को तिरपाल sheet के माध्यम से cover कर दें या फिर ऐसे बहुत से sheet मिल जायेंगे जो water प्रूफिंग का काम कर सकते है | उसके बाद छत की भर क्षमता की जांच करे अगर आपकी छत कंटेनरों और बेड का वजह सह सकती है या नही आपका घर का छत मजबूत बना है या नही ये जाँच कर लें

तिरपाल के अलावा आप तश्तरी का भी इस्तेमाल कर सकते है जो पानी को मिट्टी के फैलने से बचाती है गार्डन को अच्छे से सजाएँ उसके बाद पानी की व्यवस्था करे |

terrace gardening में कंटेनर और उठा हुआ(raised) बेड

Raised बेड –

gardening bed के लिए raised बेड सबसे अच्छा विकल्प है ये raised bed बड़े कंटनेर की तुलना में बहुत ही बड़ा area लेता है raised बेड पौधों की जड़ों को फैलने के लिए पर्याप्त जगह देता है जिससे पौधों की ज्यादा देखभाल करने की जरुरत नही पड़ती और ये अच्छे से उपजते है |

raised bed gardening
raised bed gardening

raised bed ज्यादा जगह नही घेरते है, इन्हें छत के दीवारों से सता कर रखा जा सकता है ये raised बेड महंगे आते है लेकिन raised बेड में पौधों की पैदावार कंटेनर के उगाये गये पौधों से कहीं ज्यादा होती है | raised बेड आम तौर पर metal या लकड़ी से बना होता है आप सीमेन्ट और कंक्रीट के साथ एक परमानेंट raised बेड भी बना सकते है |

raised बेड आपको नर्सरी स्टोर, हार्डवेयर स्टोर और ऑनलाइन दुकानों में भी उपलब्ध रहते है जहाँ आप अपनी छत के जगह के अनुसार उसे बनवा सकते है |

हमेशा raised बेड को जड़ के पानी के रिसाव से बचने के लिए थोड़ा ऊपर रखना चाहिए, in उठाये गए बेड में मिट्टी में पानी जल्दी सुख जाता है इसलिए उसमे हमेशा पानी डालते रहना चाहिए |

terrace gardening के लिए एकीकृत पैच

terrace में सब्जियों को उगाने के लिए integreted पैच का उपयोग किया जाता है ये पैच छत की सतह पर ही पौधों को उगाने में मदद करते है ये integreted पैच बड़े छतों के लिए  सामान्य बगीचे वाली बेड की तरह होती है | integreted पैच में पौधे उगाने के लिए आर्गेनिक खाद के साथ बगीचे की मिटटी का भी उपयोग करें |

terrace gardening के लिए कंटेनर

  • टेरेस गार्डनिंग के लिए कंटेनर सबसे अच्छा विकल्प है आप terrace gardening के लिए किसी भी आकार के कंटेनरों का उपयोग कर सकते है |
  • आपको प्लास्टिक कंटेनर नही लेना चाहिए क्योनी ज्यादा गर्मी पड़ने से प्लास्टिक कंटेनर के टूटने का खतरा ज्यादा रहता है |
  • लकड़ी, metal, मिट्टी या टेराकोटा के बने कंटेनरों का उपयोग करें इसके अलावा पुराने पेंट बॉक्स, सब्जी या फलों के बक्से, use किये हुए गिलास या प्लास्टिक की बोतलें, सैंड बॉक्स, आयल कंटेनर आदि का उपयोग कर सकते है |
  • grow बैग्स, गार्बेज बैग, चीनी बैग, चांवल या गेहू के बोरे ग्रोविंग प्लांट के लिए उपयोग किये जा सकते है |
container gardening
container gardening
  • पौधे के आकार और वृद्धि के आधार पर कंटेनर का आकार चयन करना चाहिए |
  • सभी कंटेनर में 2-3 draining के लिए छेद होने चाहिए मिटटी के टपकने को रोकने के लिए छोटी नेट (जाली) से नाली के छेद को ढक दे और water clogging से बचने के लिए बजरी के साथ कंटेनर के निचली परत को cover करना चाहिए |
  • sandbox – बच्चो के खेलने के लिए use किये जाने वाले sandbox terrace के गार्डन में use करने के लिए सबसे अच्छे कंटेनर है | सैंडबॉक्स का उपयोग बढ़ती पत्ती की सब्जी के पैच के लिए किया जाता है | सैंडबॉक्स पौधों को पनपने के लिए व्यापक स्थान देते है |

टेरेस गार्डनिंग में वर्टीकल ग्रोविंग

  • gardening के लिए जगह बढ़ाने के लिए छत की दीवारों पर ऊपर की ओर बढ़ने वाली दीवारों का उपयोग करें जिससे यह वर्टिकल gardening terrace की सुन्दरता को बढ़ाती है |
  • वर्टीकल गार्डनिंग के लिए पहले से डिजाईन किये हुए स्टैंड, पॉट होल्डर, hanger और हैंगिंग parts आदि का उपयोग करें |
  • यदि आपके पास ऐसी दीवाल है तो आप भी वर्टीकल gardening बनाने का प्लान बना सकते है |
  • वर्टीकल gardening में आप झारियों और बेल सब्जियां जैसे बीन्स, लौकी और karela आदि उगा सकते है | बेलों की दीवारों का अच्छा support मिलता है और साथ ही जगह भी बहुत बचती है |
  • आप झाड़ियों के पौधों को उगाने के लिए दीवारों पर लटकने वाले बर्तन या railing का भी use कर सकते है जिससे we आसानी से दीवारों पर बढ़ने लगे |
  • हैंगिंग पार्ट्स और स्टैंड्स, पॉट होल्डर ऑनलाइन स्टोर और नर्सरी में आसानी से मिल जायेंगे |

terrace गार्डनिंग के लिए लेआउट तैयार करें

  • गर्मी और प्रकाश की आवश्यकताओं को देखते हुए अपने गार्डन के area के अनुसार लौट डिजाईन तैयार करना चाहिए |
  • पौधों को उनके रेसिस्टेंट सूर्य के अनुसार रखें कम हवा वाले और छायादार area में निचे फैलने वाले पौधों को लगायें |
  • कंटेनरों को एक सुविधाजनक स्थान पर रखें ताकि आप उसे आसानी से पानी दे सकें |
  • कंटेनर रखने में लेआउट आपका काम करता है |
cultivation in terrace as garden
cultivation in terrace as garden

terrace gardening के लिए मिट्टी की आवश्यकता

स्वस्थ पौधा उगाने के लिए मिट्टी एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, कभी भी रासायनिक मिक्स्ड मिट्टी को नही चुनना चाहिए नही तो यह आपके पैदावार पर असर डाल सकता है मिट्टी का उपयोग पौधों की उचित वृद्धि के लिए सभी पोषक तत्व प्रदान करना चाहिए | terrace gardening के लिए पॉट gardening के लिए प्रीमियम पॉटिंग मिश्रण को recommend किया जाता है | कम्पोस्ट के साथ नदी या रेत की खाद को मिट्टी में मिलाना चाहिए, सामान्य मिट्टी का प्रयोग terrace gardening आपके लिए अच्छा साबित नही होगा |

अधिकांश पौधे पॉटिंग mix में बढ़ते है, कुछ पौधों को विभिन्न प्रकार की मिट्टी की आवश्यकता होती है जैसे चुना और साइट्रस पौधों को अधिक अम्लीय मिट्टी की आवश्यकता होती है इसलिए पौधों की आवश्यकताओं के अनुसार मिट्टी की प्रकारों को बदलना चाहिए |

नर्सरी से आपको पॉटिंग mix मिट्टी मंगनी चाहिते अगर आपको यह महंगा लगता है तो आप इसे खुद तैयार कर सकते है आपको बस आवश्यक सामग्री की जरुरत पड़ेगी जिससे आप घर में मिश्रण तैयार कर पाएंगे |

terrace gardening के लिए होम मेड पॉटिंग mix की तैयारी

  • सबसे पहले बिना रसायन वाली लाल मिट्टी लेना चाहिए
  • जिसे आपको नीम केक और गोबर के साथ mix करें
  • draining सिस्टम को बढ़ाने के लिए नदी की रेत, वेर्मी-कम्पोस्ट और नारियल के छिलके के साथ अच्छे से मिलाने से आपका पॉटिंग mix तैयार हो जायेगा |

terrace gardening के लिए कम मिट्टी वाली पॉटिंग mix तैयार करना

कोको पिट, लाल रेत और वेर्मी-कम्पोस्ट को एक समान भाग में ले, उसके बाद mix पॉटिंग रखें, रोपाई के 3 हफ्ते पहले इसे खुली हवा में रखना चाहिए इसे कंटेनरों में डालने से पहले उसमे जैविक खाद डालना चाहिए इस तरह आप बिना मिट्टी के mix पॉटिंग तैयार कर सकते है |

terrace gardening के लिए पानी की आवश्यकता |

  • terrace gardening के लिए आपके गार्डन के पास पानी का source होना चाहिए जैसे नल
  • पानी भरने के किये केतली के सामान जग होना चाहिए या आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है या फिर छत के पौधो को पानी देने के लिए एक पाइप का भी इस्तेमाल कर सकते है |
  • आप पानी देने के लिए बाल्टी, मग का use करके पौधों में पानी भी डाल सकते है लेकिन बार-बार आने-जाने में आपको मेहनत लग सकती है |
  • पौधों को पानी देने के लिए पानी के डिब्बो का ही use करना चाहिए |
  • यदि आपको पानी रोज देने में कठिनाई होती है तो ड्रिप सिंचाई का तरीका अपनाये |
  • ऑनलाइन आपको कई प्रकार के वाटरिंग सिस्टम मिल जायंगे जिसे आप भी use कर सकते है |
  • पौधों को साफ़ पानी देने का प्रयास करें और क्लोरिन से मुक्त पानी पौधों को देना चाहिए |

terrace gardening के लिए बीज और वृक्षारोपण

  • आप नर्सरी में जाकर अपना बीज या पौधा प्राप्त कर सकते है ऑनलाइन भी आप अपने मनपसंद पौधों को मंगवा सकते है |
  • अच्छी गुणवत्ता वाले जैविक बीजों को ही खरीदें क्योंकि पौधों की वृद्धि बीजों की गुणवत्ता पर ही निर्भर करती है |
  • बीज के cover पर लेबल में दिए गये निर्देशों को अनुसार बुवाई की प्रोसेस को करनी चाहिए |
  • कुछ बीज को बीज ट्रे से उगाया जाता है उसके बाद ही कंटेनरों में बुवाई करनी चाहिए |
  • बीज को अंकुरित होने तक नियमित रूप से उसका देखभाल करना चाहिए |
  • ऐसी बीज चुने जिसमे मौसम और जलवायु की परिस्थिति पौधों के बढ़ने के लिए उचित हो |
  • कुछ पौधे के बीज आसानी से छत में बढ़ नही पाते ऐसे बीजों को नर्सरी में अंकुरित होने के पश्चात् ही लेना चाहिए |
  • कुछ पौधें सीधें कटिंग से उगाये जाते है आप खरीदने के बजाय उसे अपने पड़ोसी या दोस्त से भी मांग कर उगा सकते है |
  • आसानी से उगाये जाने वाले पौधों को कम-कम लेकर शुरू करें जिससे आप समय समय पर उसकी संख्या में वृद्धि कर सकते है |

terrace gardening के लिए उर्वरको की आवश्यकता

  • कंटेनर और बेड में उगने वाले पौधों को नियमित रूप से खाद की आवश्यकता होती रहती है खासकर जब वे बढ़ रहें हो |
  • केमिकल वाले उर्वरको का use नही करना चाहिए केवल जैविक खाद और उर्वरको का ही प्रयोग करना चाहिए |
  • हलके लिक्विड उर्वरक का उसे करना चाहिए |
  • प्राकृतिक खाद जैसे सब्जी की खाद, फलों का खाद या चाय की खाद का उपयोग अच्छे खाद के रुप में किया जा सकता है |
  • हर 6 महीने के पश्चात् गोबर की खाद को मिट्टी के साथ मिलाना चाहिए |
  • गोबर या पोल्ट्री की खाद कुछ दिनों के लिए असुविधाजनक स्मेल दे सकता है |

terrace gardening के लिए कीटनाशको की आवश्यकता

  • जब आप पहली बार gardening कर रहें हो तो आपको कीटनाशको के प्रयोग को ध्यान में रखना होगा क्योकि अगर आप अच्छी देखभाल नही करेंगे तो कीटों का आक्रमण हो सकते है |
  • कीटनाशको का use सिर्फ कीटों के इलाज के लिए किया जाना चाहिए लेकिन नेचुरल फल के लिए कभी भी रसायनों का use नही करना चाहिए |
  • नेचुरल पेस्टिसाइड का चूर्ण अपने घर पर ही बनाये |
  • आम कीटों के इलाज के लिए अदरक का तेल, एंटीसेप्टिक स्प्रे, नीम के तेल आदि नेचुरल पेस्टिसाइड के अंतर्गत आते है |
  • यदि कीटों और बीमारियों से कुछ पौधे प्रभावित है तो उसे अलग रखा जाना चाहिए क्योंकि इसके फैलने की सम्भावना terrace गार्डन में ज्यादा होती है |

terrace gardning में वर्षा के जल का संचयन(water harvesting terrace gardening)

  • वर्षा का जल पौधों के लिए नाइट्रोजन का एक अच्छा स्त्रोत है |
  • बारिश के पानी को इकठ्ठा करने के लिए बड़े कंटेनर या बाल्टी रखें उसके बाद इकट्ठे हुए पानी का आप पौधों के लिए इस्तेमाल कर सकते है

terrace gardening में गार्डन cover और विंड बैरियर

  • अधिक गर्मियों और अधिक सर्दियों में आपको पौधों के लिए छाया देने की आवाह्य्कता होती
  • कुछ पौधों गर्मी को सहन कर सकते है लेकिन कुछ दोपहर के गर्मी को बर्दास्त नही कर पाते जिसके लिए गार्डन cover का use किया जाता है | हलके UV रेसिस्टेंट cover का use करना चाहिए |
  • लेकिन गार्डन cover महंगे होते है इसके लिए आप नेट शेडिंग का इस्तेमाल कर सकते है |
  • लेकिन यदि आप बजट की कमी से परेशान है तो कुछ ही क्षेत्रों को cover करके रख सकते है जो ज्यादा गर्मी झेल नही सकते |
  • सर्दियों में पौधों को ज्यादा ठण्ड से बचाने के लिए गार्डन cover का use किया जाना चाहिए |
  • विंड बैरियर : छत के गार्डन की सबसे बड़ी समस्या तेज चलने वाली हवाएं होती है जो पेड़ के लताओं को damage कर सकते है और साथ ही नये तनो को तोड़ भी सकती है इसलिए आपको विंड बैरियर इनस्टॉल करने की जरुरत पड़ सकती है लेकिन ये विंड बैरियर काफी महंगे आते है अतः आपको इससे बचने के लिए मजबूत छड़ का इस्तेमाल करना होगा |

terrace gardening में पक्षियों से पौधों की सुरक्षा

  • terrace में पौधों को पक्षियों, जानवरों जैसे चूहे, गिलहरियों से बचाना चाहिए |
  • जो पौधे फल दे चुके है उनके फलों को दुसरे पौधों के damage होने से बचाना चाहिए जैसे तार या जाली से पौधे को ढक दिया जाना चाहिए |
  • चूहों और गिलहरियों से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाना चाहिए ताकि raised बेड की जड़ो को नुकसान न पंहुचा सके |

terrace gardening के लिए बेस्ट पौधे | terrace गार्डन में कौन से पौधें उगायें

  • terrace गार्डन वेजिटेबल : मध्यम आकार के बर्तन या मिट्टी से उठाये गये बेड्स के साथ सभी आवश्यकताओं के लिए आप terrace गार्डन में सभी सब्जियों को उगा सकते है जैसे टमाटर, गाजर, प्याज, आलू, शिमला मिर्च, खीरे, बैंगन आसानी से उगाये जा सकते है | लेकिन उस सभी सब्जियों को नियमित देखभाल की आवश्यकता होती है जैसे छंटाई पानी देना और हर हफ्ते फ़र्टिलाइज़र देना बहुत जरुरी होता है |
  • terrace गार्डन के लिए फ्रूट ट्री : ऑरेंज, अमरुद, निम्बू, पपीता, आम, सैपोडिला की बौनी पेड़ की किस्मो का चयन terrace gardening के लिए बेस्ट है |
  • terrace के लिए फूलों के पौधे की gardening : गुलाब, मैरीगोल्ड, लिली, जैस्मिन जैसे फूलों के पौधे उगाये जा सकते है |
  • terrace gardening के लिए जड़ी बूटियां : हमारे terrace गार्डन में आसानी से उगाई जाने वाली जड़ी बूटियां में टकसाल, तुलसी, करी पत्ता, अजवाइन, सीताफल, लहसुन terrace gardening के लिए उपयुक्त है |
  • वर्टीकल gardening के लिए पौधे : बोस्टन फ़र्न, बर्ड्स नेस्ट फ़र्न, खरगोश फुट फ़र्न, लिपस्टिक प्लांट्स, बेबी टीयर्स आदि इसके साथ वर्टीकल गार्डन के लिए मटर, खीरा, पोल बीन्स, कद्दू आदि भी उगा सकते है |

terrace / रूफ gardening के लाभ

  • यह गार्डन आपकी खुद की होती है इसे आ जब चाहे तब इस्तेमाल कर सकते है अच्छे सब्जी भी प्राप्त कर सकते है |
  • terrace में हरे-भरे पौधों के कारण आपका घर ठंडा रहता है |
  • terrace के पौधे कार्बन मोनो ऑक्साइड को कम करने में मदद करते है और साथ ही यह eco-फ्रेंडली भी है |
  • terrace गार्डनिंग या रूफ टॉप gardening में ज्यादा maintanance की आवश्यकता नही होती है |
  • छत पर पौधों को डायरेक्ट सूर्य की रोशनी मिलती है जिससे आपको स्वस्थ सब्जी खाने को मिलती है |
  • आपका घर terrace gardening से और भी सुन्दर दिखाई देने लगता है जो बहुत ही आकर्षक होता है |
  • आप अपने बढ़ते पौधों के लिए water हार्वेस्टिंग भी कर सकते है |
  • terrace gardening एक स्ट्रेस बूस्टर का काम भी करता है |
  • terrace gardening करने पर आपको बाजार जाना नही पड़ता जिससे आपके खर्चे कम हो जाते है कुछ हद तक |

terrace gardening के लिए कुछ टिप्स

  • आप terrace gardening के लिए एक अच्छा सा थीम चुन सकते है जिसमे आप डिजाईन के अनुसार पौधे चुनकर अपनी छत को और आकर्षक बना सकते है |
  • जब आप पहली बार छत पर पौधे उगा रहे हो तो ज्यादा पौधे एक साथ उगाने का प्रयास न करे आराम से एक एक करके गर्मी और जलवायु के आवश्यकताओं के अनुसार अपने छत को व्यवस्थित करने की कोशिश करे |
  • शुरू में आप सफल नही होंगे इसलिए आपको परिस्थिति से लड़ने के लिए तैयार रहना होगा आपको पानी की मात्रा, कम्पोस्ट आदि की समस्याओ से जूझना पड़ सकता है |
  • अपने गार्डन में काम करते समय ग्लव्स जरुर पहने |
  • कई प्रकार के कीटनाशको का पौधों में हमला हो सकता है इससे बचने के लिए जैविक खाद और पेस्टिसाइड का use करें |
  • बढ़ते कीटों से बचने के लिए पहले से इन्टरनेट का इस्तेमाल करे ताकि आपको कीटों से निपटने में आसानी हो |
  • मिट्टी का चयन करना बहुत ही मुश्किल कार्य हो सकता है क्योंकि मिट्टी ही बुनियादी पोषक तत्वों की पूर्ति करता है मिट्टी को उपजाऊ और अच्छी तरह ड्राई बनाने के लिए वेर्मी-कम्पोस्ट खाद का प्रयोग करें |
  • बारिश के मौसम के बाद आवश्यक पोषक तत्वों के साथ कुछ जैविक उर्वरक डालें क्योंकि बारिश का पानी मिट्टी के पोषक तत्वों को बहा देती है |
  • terrace gardening के लिए रेगुलरली पानी देना चाहिए गर्मी में पौधों को याद से दो बार अवश्य पानी दे |
terrace gardening video

शेयर करें

headdead05@gmail.com

नमस्ते किसान भाइयो, मेरा नाम अनिल है और मै इस वेबसाइट का लेखक और साथ ही साथ सह-संस्थापक भी हूँ, Education की बात करें तो मै graduate हूँ, मुझे किसानो और ग्रामीणों की मदद करना अच्छा लगता है इसलिए मैंने आप लोगो की मदद के लिये इस वेबसाइट का आरम्भ किया है आप हमे सहयोग देते रहिये हम आपके लिए नयी-नयी जानकारी लाते रहेंगे | #DIGITAL INDIA

View all posts by headdead05@gmail.com →

प्रातिक्रिया दे