पोषण अभियान जन आन्दोलन

पोषण अभियान जन आन्दोलन लॉग इन 2021

शेयर करें

poshan abhiyan.gov.in dashboard | पोषण अभियान 2020 | पोषण अभियान डाटा एंट्री | पोषण अभियान गवर्नमेंट | पोषण अभियान जन आन्दोलन लॉग इन

पोषण अभियान डैशबोर्ड | poshan abhiyan login

पोषन अभियान का उद्देश्य कुपोषण को कम करना है, जीवन-चक्र अवधारणा के माध्यम से, एक समन्वित और परिणाम-उन्मुख दृष्टिकोण को अपनाना है | यह अभियान महिला और बाल विकास मंत्रालय (MWCD), भारत सरकार द्वारा कार्यान्वित किया गया मिशन का लक्ष्य नीचे लाना है 20.4 तक 38.4% से 25% तक 0-6 वर्ष के बच्चों में स्टंट करना। इसे कम करने का भी लक्ष्य है 15-49 वर्ष की आयु के महिलाओं और किशोर लड़कियों में एनीमिया और निम्न को कम करता है जन्म के समय वजन।

मिशन का लक्ष्य 0-6 वर्ष के बच्चों में स्टंट को 2022 तक 38.4% से 25% तक निचे लाना है साथ ही 15-49 वर्ष की आयु की महिलाओं और लड़कियों में में एनीमिया और जन्म के समय वजन को भी कम होता है उसको कम करने का लक्ष्य है |

पोषण अभियान अपने लक्ष्यों को पूरा अपने निम्न चीजों में फोकस करके करने का प्रयास कर रहा है :-

mobile बेस्ड information टेक्नोलॉजी के टूल की सहायता से बेहतर वितरण एवं निगरानी से अपने लाभार्थीयो पोषण प्रभाव के लिए महत्वपूर्ण प्रथम – 1000 दिनों की खिड़की के दौरान को पहुँचाना |

राज्य से ब्लॉक स्तर तक बहु-क्षेत्रीय योजना और निगरानी कार्यकलाप बेहतर पोषण परिणामों को फोकस करके |

दो साल तक के बच्चों की उम्र,गर्भवती महिलाओं और माताओं के पोषण परामर्श पर सेवा (ICDS) के अधिकारी समेकित बाल विकास की क्षमता निर्माण करके |

सामुदायिक मोबिलाइजेशन और व्यवहार में बदलाव संचार से |

स्वास्थ्य कार्यकर्ता, और राज्य को सामुदायिक पोषण के लिए प्रदर्शन-आधारित प्रोत्साहन प्रदान करके |

पोषण अभियान : कार्यक्रम के मुख्य स्तम्भ poshan abhiyan gov.in

पहला स्तम्भ :- ICDS – Common ApplicationSoftware (CAS), पोषण अभियान जन आन्दोलन

यह एक mobile आधारित ICDS-CAS स्तम्भ है जो फील्ड अधिकारियो के लिए नौकरी के रूप में तथा सहायता के रूप में कार्य करता है साथ ही राज्य और राष्ट्रिय स्तर पर आंगनबाड़ी से वितरण और कार्यक्रम की निगरानी को मजबूती प्रदान करती है | यह अपने कार्य से पोषण के लिए महत्वपूर्ण 1000 दिनों में लाभार्थियों को सेवा प्रदान करता है | इसके साथ साथ ये web आधारित 6 स्तरीय डैशबोर्ड की सहायता से रियल टाइम प्रोग्रेस की रिपोर्ट अपने अधिकारी को जारी करता है ताकि इसके आउटकम के परिणाम को परख सके |

साथ ही पोषण अभियान के तहत IT enabled कॉल सेंटर खोलने की भी योजना है ताकि नागरिको का पोषण के प्रति जुड़ाव को मजबूती प्रदान की जा सकते | कॉल सेंटर कार्यक्रम की जानकारी, शिकायत की पते के साथ साथ जो पोषण में कमजोर है उन लाभार्थियों का फॉलो up लिया जायेगा और निगरानी भी राखी जाएगी | अभियान में नागरिको के पास से काल आना और यहाँ से सुझाव को कॉल के माध्यम से भेजने से लाभार्तियों तक पहुँचने में आसानी होगी और सहायता प्रदान भी की जा सकेगी |

पोषण अभियान | सम्मिलन कार्य योजना | poshan abhiyan ICDS, पोषण अभियान जन आन्दोलन

इसके तहत राज्य, जिले तथा खंड स्तर पर सम्मिलन पोषण कार्य योजना का विकास और परिचालन किया जाता है तथा पोषण की जानकारी को सेक्टर में प्रोमोट किया जाता है इसको प्रोमोट करने के लिए बहुत से विभाग एक साथ काम करते है जैसे स्वस्थ्य एवं परिवार कल्याण, जल और स्वच्छता विभाग, ग्रामीण विकास एवं शिक्षा विभाग जिससे यह अभियान अच्छे से सभी के पास पहुँच जाए |

अधिगम दृष्टिकोण (ILA)के माध्यमसेICDS अधिकारियों की क्षमता निर्माण/वृद्धिशील करना | पोषण अभियान

यह क्षमता निर्माण कार्यक्रम है जो हर महीने अपने पर्यवेक्षक तथा आंगनबाड़ी के कार्यकर्ताओं (AWW) के साथ होता है कार्यकर्ता एक महीने में एक टॉपिक को फॉलो करते है जैसा की माह में टॉपिक रहता है इस कार्यक्रम को छोटे-छोटे टुकड़ो में डाल दिया है ताकि यह हर महीने आसानी से की जा सकते तथा कौशल भी कार्यकर्ताओं मिलती रहे रहे जिसके फलस्वरूप शिशु एवं बच्चो के पोषण में कोई कमी ना आये |

जन आन्दोलन (व्यवहार परिवर्तन, संचार और समुदायसंघटन), पोषण अभियान जन आन्दोलन

इस आन्दोलन का मतलब पोषण अभियान का संचालन और विकास पर केन्द्रित है जिसके लिए मध्य-मिडिया, मास-मिडिया और समुदाय आधारित बहुक्षेत्रीय की सहायता ली जाती है जिसमे लाभार्थी को जागरूगता दिलाया जाता है की कैसे अनीमिया, डायरिया स्वच्छता सम्बन्धी प्रबंधन किया जाना चाहिए और साथ ही पोषण के लिए किस प्रकार के कार्य किये जाना चहिये ग्रोथ की निगरानी भी किस प्रकार से करनी है इन सभी क्रियाकलापों को जन आन्दोलन के माध्यम से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय आदि के साथ मिलकर सभी ग्रामीण इलाको में पहुँचाया जाता है |

2015-18 तक कम आय वाले राज्य में पोषण अभियान के तहत महिलाओं एवं शिशुओं में बहुत ही अच्छा सुधर हुआ है और अनीमिया जैसे रोगों का विकास दर बहुत ही कम हुआ है |

पोषण अभियान जन आन्दोलन योजना के बारे में

भारत सरकार द्वारा कुपोषण को दूर करने के लिए जीवन चक्र एप्रोच अपना कर चरणबद्ध ढंग से पोषण अभियान चलाया जा रहा है, भारत सरकार द्वारा 0 से 6 वर्ष तक के बच्चों एवं गर्भवती एवं धात्री माताओं का स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर में समय बद्ध तरीके से सुरक्षा हेतु महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय पोषण मिशन का गठन किया गया है, राष्ट्रीय पोषण मिशन अंतर्गत कुपोषण को चरणबद्ध तरीके से दूर करने के लिए आगामी तीन वर्षो के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है |

पोषण अभियान जन आन्दोलन के उद्देश्य एवं  लक्ष्य

  1. 0 से 6 वर्ष के बच्चो के ठिगनेपन से बचाव एवं इसमें कुल 6 प्रतिशत, प्रति वर्ष 2 प्रतिशत की दर से कमी लाना |
  2. 0 से 6 वर्ष के बच्चों का अल्प पोषण से बचाव एवं इसमें कुल 6 प्रतिशत, प्रतिवर्ष 2 प्रतिशत की दर से कमी लाना |
  3. 6 से 59 माह के बच्चो में एनीमिया के प्रसार में कुल 9 प्रतिशत, प्रतिवर्ष 3 प्रतिशत की दर से कमी लाना |
  4. 15 से 49 वर्ष की किशोरियों, गर्भवती धात्री माताओं में एनीमिया के प्रसार में कुल 9 प्रतिशत, प्रतिवर्ष 3 प्रतिशत की दर से कमी लाना |
  5. कम वजन के साथ जन्म लेने वाले बच्चों की संख्या में कुल 6 प्रतिशत, प्रति वर्ष 2 प्रतिशत की दर से कमी लाना |

पोषण अभियान जन आन्दोलन के तहत किये जाने वाले कार्यक्रम

  • पोषण जन आन्दोलन | POSHAN JAN ANDOLAN
  • पोषण पखवाड़ा | POSHAN PAKHWADA
  • पोषण माह | POSHAN MAAH

इन सभी की डिटेल जानने के लिए आप http://dashboard.poshanabhiyaan.gov.in/pakhwada20/#/ इस लिंक में जा सकते है |


शेयर करें

headdead05@gmail.com

नमस्ते किसान भाइयो, मेरा नाम अनिल है और मै इस वेबसाइट का लेखक और साथ ही साथ सह-संस्थापक भी हूँ, Education की बात करें तो मै graduate हूँ, मुझे किसानो और ग्रामीणों की मदद करना अच्छा लगता है इसलिए मैंने आप लोगो की मदद के लिये इस वेबसाइट का आरम्भ किया है आप हमे सहयोग देते रहिये हम आपके लिए नयी-नयी जानकारी लाते रहेंगे | #DIGITAL INDIA

View all posts by headdead05@gmail.com →

प्रातिक्रिया दे